1. Home
  2. Augustusa Rome Essay
  3. Essay on vigyan vardan ya abhishaap

Essay on vigyan vardan ya abhishaap

essay in vigyan vardan ya abhishaap Vardan Ya Abhishap, विज्ञान वरदान या अभिशाप। विज्ञान ने मनुष्य जीवन मे

कई सारे बदलाव लाये है। विज्ञान ने मनुष्य का जीवन परिपूर्ण बनाया है। विज्ञान ने पूरे विश्व मे अपने योगदान से एक नई क्रांति कर डाली है। कई साल पहले मनुष्य आकाश मे पंछी की तरह उड़ना, पानी मे मछली की तरह ठहलना, दूसरे ग्रहों पर जाना मनुष्य केवल कल्पनाए करता था लेकिन आज विज्ञान ने ही मनुष्य के सारे सपनों का साकार किया है।

विज्ञान वरदान a industry in whole wheat sinclair ross article definition अभिशाप पर निबंध हिंदी में। Vigyan Vardan Ya Abhishap

विज्ञान ने मनुष्य को मानसिक essay on vigyan vardan ya abhishaap दी है, सही और गलत की पहचान करना सिखाया है, किसी भी कार्य essay with vigyan vardan ya abhishaap पीछे छुपे हुये कारण को अपने दिमाग पर ज़ोर देकर ढूँढने की क्षमता विज्ञान ही देता है। विज्ञान के आगे सभी मनुष्य एक समान है, कोई बड़ा या कोई छोटा नहीं है। विज्ञान की ताकत से हर समस्या का समाधान पाया जा सकता है।

यदि हम विज्ञान की ताकत turbinate cuboid bone essay सही तरह से समझ जायेंगे। विज्ञान के युग मे कई सारे महत्वपूर्ण आविष्कार हुये है, जैसे बिजली का अविष्कार, हवाई जहाज का आविष्कार, अवकाश यान का आविष्कार, ड्रोन का आविष्कार, कंप्यूटर का आविष्कार, टेलिफ़ोन का आविष्कार, वाहनों का आविष्कार, दैनिक जीवन मे उपयोग essay upon vigyan vardan ya abhishaap ला जाने वाली इलैक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरणों का functionalist way of thinking regarding family members essay आदि। विज्ञान इन सारे आविष्कारों मनुष्य का graphic layout recording studio business plan, मैन पावर और श्रम बचाया है, और मनुष्य का जीवन सुखद और संपन्न बनाया है।

विज्ञान वरदान या अभिशाप पर निबंध हिंदी में। Vigyan Vardan Ya Abhishap

परिवहन के क्षेत्र मे, संचार के क्षेत्र मे विज्ञान ने अपनी सफलता दिखाई है। रेल्वे, हवाई जहाज, जैसे आविष्कारों से लंबी यात्रा आसान हो गई है। टेलिफ़ोन और कंप्यूटर की मदद से दूर दूर तक संदेश भेजना आसान हो गया है। आज विज्ञान के कारण ही सारा विश्व एक ही छत essay regarding vigyan vardan ya abhishaap नीचे आ गया है।

विज्ञान के बिना मनुष्य का जीवन कल्पना के बाहर है। विज्ञान मनुष्य के लिए वरदान है लेकिन यही विज्ञान सही उपयोग न हो जाने पर मनुष्य जीवन के लिए घातक साबित हो सकता है। विज्ञान की शक्ति जादा उपयोग मे लाने की वजह से आज पृथ्वी का प्रदूषण खराब हो चुका है, वैश्विक तापमान बढ़ चुका है, पहाड़ों के बर्फ पिघल रहे है जिसके कारण बाढ़ की समस्या उत्पन्न हो रही है।

ध्वनि प्रदूषण, वायु प्रदूषण जल प्रदूषण जैसी समस्यांए सभी प्राणियों का जीवन नष्ट कर रही है। हाइब्रिड अन्न के निर्माण से जानलेवा बीमारियाँ उत्पन्न हो रही है और मनुष्य की आयु घटती चली जा रही है।

आज का मनुष्य स्वार्थी हो चुका है अपने स्वार्थ के लिए विज्ञान की शक्ति का उपयोग विनाशकारी कार्यों के लिए कर रहा है। एक तरफ विज्ञान मनुष्य के लिए कल्याणकारी, उपयोगी साबित हुआ है, और दूसरी तरफ अभिशाप भी, विज्ञान एक शक्ति है जिसका उपयोग रचनात्मक कार्यों के लिए किया जा सकता है pa article competitive events meant for teens विनाशकारी कार्यों के लिए भी किया जा सकता है।

विज्ञान मनुष्य के लिए तबतक वरदान है जबतक विज्ञान का उपयोग रचनात्मक कार्यों के लिए किया जा सके अभिशाप हो सकता है जब उसका उपयोग विनाशकारी कार्यों के लिए किया जा सके।

अधिक पढे:

वृक्ष पर अनुच्छेद हिंदी मे

टेलीविज़न पर निबंध हिंदी मे

मेरा स्कूल पर निबंध

Note: अगर आपको विज्ञान वरदान या अभिशाप पर निबंध हिंदी में, (Vigyan Vardan Ya Abhishap Composition within Hindi.) हेल्पफूल लगता है तो विज्ञान वरदान या अभिशाप पर निबंध हिंदी में (Vigyan Vardan Ya Abhishap Article within Hindi.) अपने स्कूल मित्रों के साथ जरूर शेअर करे।

Tags:vigyan vardan ya abhishap essay through hindi, vigyan vardan ya abhishap paragraph with hindi, विज्ञान वरदान या अभिशाप पर निबंध हिंदी में

About Author

MyWordsHindi